अयूब खान का संक्षिप्त जीवन परिचय। (Brief biography of Ayub Khan)

अयूब खान को मूलतः बॉलीवुड में उनके अभिनय के लिए जाना जाता है। हिंदी सिनेमा में अपनी पहचान बनाने के पश्चात उन्होंने टेलीविजन धारावाहिकों में भी अपने अभिनय का महत्वपूर्ण योगदान दिया है। वह हिंदी सिनेमा के मशहूर  दिग्गज पूर्व अभिनेता दिलीप कुमार के  भतीजे हैं। अयूब खान ने वर्ष 1992 में माशूक़ फिल्म से हिंदी सिनेमा में पदार्पण किया था। वह लगभग अब तक 34 फिल्मों में काम कर चुके हैं। वर्ष 1988 में महाभारत धारावाहिक से उन्होंने टेलीविजन धारावाहिकों में पदार्पण किया था। जय अब तक लगभग 24 धारावाहिकों में काम कर चुके हैं।  अयूब खान को हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में उतनी पहचान नहीं मिली जितनी टेलीविजन इंडस्ट्री में। टेलिविजन इंडस्ट्री में अभिनय के क्षेत्र में योगदान के लिए इनको कई पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है।

अयूब खान का जन्मदिन और उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि (Ayub Khan’s birthday and his family background)

अयूब खान का जन्म 23 फरवरी 1969 को मुंबई महाराष्ट्र में हुआ। इनके पिता नासिर खान भी हिंदी सिनेमा के मशहूर अभिनेता थे। जो दिलीप कुमार के छोटे भाई थे। इनकी  माता बेगम पारा भी हिंदी सिनेमा की एक लोकप्रिय दिग्गज अभिनेत्री थी। अयूब खान का  पैतृक संबंध  खैबर पख्तूनख्वा पंजाबी शेत्र से हैं।इनके एक भाई  नादिर खान तथा एक बहन लुबना खान है।

Also Read  How to Find out your Jio mobile number

अयूब खान की शैक्षणिक योग्यता,  स्कूल तथा कॉलेज के बारे में कोई जानकारी प्राप्त नहीं है।

अयूब खान की व्यक्तिगत जानकारी (Ayub Khan’s personal information)

वास्तविक नामअयूब खान 
अयूब खान का जन्मदिन23 फरवरी 1969
अयूब खान की आयु53 वर्ष
अयूब खान का जन्म स्थान मुंबई महाराष्ट्र भारत
अयूब खान का मूल निवास स्थानमुंबई महाराष्ट्र भारत
अयूब खान के राष्ट्रीयताभारतीय
अयूब खान का धर्मइस्लाम
अयूब खान की शैक्षणिक योग्यताज्ञात नहीं
अयूब खान के स्कूल का नामज्ञात नहीं
अयूब खान के कॉलेज  का नामज्ञात नहीं
अयूब खान का व्यवसायअभिनेता
अयूब खान की कुल संपत्ति40  करोड़   रुपए के लगभग
अयूब खान की  वैवाहिक स्थितितलाकशुदा 
अयूब खान की वैवाहिक तिथिवर्ष 2000

अयूब खान की शारीरिक संरचना (Body structure of Ayub Khan)

अयूब खान की लंबाई5 फुट 9 इंच
अयूब खान का भजन80 किलोग्राम
अयूब खान का शारीरिक मापछाती 40 इंच,  कमर 32 इंच,  बाइसेप्स 13 इंच
अयूब खान की आंखों का रंगभूरा
अयूब खान के बालों का रंगकाला

 अयूब खान का परिवार (Ayub Khan family)

अयूब खान के पिता का नामनासिर खान ( अभिनेता)
अयूब खान की माता का नामबेगम पारा ( अभिनेत्री)
अयूब खान के भाई का नामनादिर खान
अयूब खान की बहन का नामलुबना खान
अयूब खान की पत्नी का नाममायासा              (पहली पत्नी)निहारिका भसीन ( दूसरी पत्नी)
अयूब खान की बेटियों के नामजोहरा खान और तहूरा खान 
अयूब खान के  अंकल का नाम दिलीप कुमार ( अभिनेता)

अयूब खान का बॉलीवुड में पदार्पण (Ayub Khan’s Bollywood debut)

अयूब खान के माता पिता चाहते थे कि उनके तीनों बच्चों में से कोई भी एक कम से कम फिल्म इंडस्ट्री में बड़ा होकर काम करें। उनके एक बेटे  नांदेड़ खान और बेटी  लुबना  खान  ने  फिल्मों में काम करने से इंकार कर दिया था। जिसके पश्चात अपने माता-पिता की इच्छा को पूरा करने के लिए अयूब खान ने फिल्मों में अपना करियर बनाने का निश्चय किया। अयूब खान ने वर्ष 1992 में मिर्जा ब्रदर्स द्वारा निर्देशित रोमांटिक ड्रामा फिल्म माशूक  से बॉलीवुड में पदार्पण किया था। इस फिल्म में उनके अभिनय को खूब सराहा गया। इस फिल्म में उनकी सह कलाकार आयशा जुल्का थी। वर्ष 1994 में उन्होंने शाहरुख सुल्तान द्वारा निर्देशित फिल्म सलामी में विजय की मुख्य भूमिका निभाई थी। वर्ष 1996 में अजय  कश्यप द्वारा निर्देशित क्राईम एक्शन ड्रामा फिल्म स्मगलर मैं अयूब खान ने इंस्पेक्टर विजय का किरदार निभाया था। इस फिल्म में उनके सह कलाकार धर्मेंद्र,  करीना ग्रोवर,  गुग्गू गिल,  अमरीश पुरी,  रीना रॉय और मुकेश खन्ना थे। 

Also Read  Ayodhya Case: Center Moves Supreme Court

अयूब खान 10 वर्षों तक लगातार कई फिल्मों का हिस्सा रहे परंतु उनको अक्सर सहायक अभिनेता के ही रोल मिला करते थे। जिससे उन्हें मुख्य पहचान मिलने में बहुत कठिनाई हो रही थी।  वर्ष 2001 में उन्होंने फरहान अख्तर द्वारा निर्देशित कमिंग  ऑफ  एज रोमांस ड्रामा फिल्म दिल चाहता है में रोहित की भूमिका निभाई। इस फिल्म ने उस वर्ष बॉक्स ऑफिस पर 397.2 मिलियन रुपए  की कमाई की थी।  इस फिल्म से अयूब खान को भी एक नहीं पहचान मिलने में सहायता हुई। इसके पश्चात उन्होंने 2003 में लगातार 3 सुपरहिट फिल्मों जैसे कि कयामत: सिटी अंडर थ्रेट,  गंगाजल – इंस्पेक्टर शाहिद खान और एलओसी कारगिल – मेजर पीएस झंगु की भूमिका निभाई।अयूब खान की अब तक की अंतिम फिल्म वर्ष 2017 में आई दोस्ती जिंदाबाद है।

Also Read  Where can One Still Meet Interesting Men Today

अयूब खान का टेलीविजन धारावाहिकों में पदार्पण (Ayub Khan’s debut in television serials)

लगातार कई सुपरहिट फिल्मों का हिस्सा रहने के बाद भी जब अयूब खान को बॉलीवुड इंडस्ट्री में काम मिलना बंद हो गया तो उन्होंने टेलीविजन इंडस्ट्री की ओर अपना रुख किया। वर्ष 1999 में प्रसारित किए जाने वाले धारावाहिक मुस्कान में राहुल के किरदार से टेलीविजन धारावाहिकों में पदार्पण किया था। इसके पश्चात वर्ष 2000 में उन्होंने संबंध धारावाहिक में भी काम किया। इसी वर्ष दूसरे धारावाहिक तो नसीब है किसी और का में भी अयूब खान ने  मुख्य भूमिका निभाई। इस धारावाहिक में दर्शकों द्वारा अयूब खान के अभिनय को खूब सराहना मिली। 

वर्ष 2005 में अयूब खान ने ज़ी टीवी पर प्रसारित किए जाने वाले धारावाहिक कशिश में आनंद का  मुख्य किरदार  निभाया था। इस धारावाहिक में इनके सह कलाकार  मुकुल देव,  सिमोना सिंह,  कीटू गिद्वानी,  फैजान  किदवई,  रिता भादुरी आदि थी। टेलीविजन इंडस्ट्री में अयूब खान को सबसे अधिक लोकप्रियता वर्ष 2009 में कलर्स टीवी पर प्रसारित किए जाने वाले धारावाहिक उत्तरण से प्राप्त हुई। इस धारावाहिक में अयूब खान ने जोगी ठाकुर का महत्वपूर्ण किरदार निभाया था। इस धारावाहिक के कुल 8 सीजन में 1549  एपिसोडस बनाए  गए।

इसके इलावा यह दूसरी मुख्य पहचान वर्ष 2014 में स्टार प्लस पर प्रसारित किए जाने वाले धारावाहिक एक हसीना थी से प्राप्त हुई। जिसमें उन्होंने राजनाथ गोयनका  की भूमिका निभाई थी। इस धारावाहिक के कुल 216  एपिसोड बनाए गए थे।

अयूब खान के अवार्ड और सम्मान (Awards and Honors of Ayub Khan)

वर्ष 2010 सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता  क्रिटिक्स  ज़ी गोल्ड अवॉर्ड्स धारावाहिक उत्तरण

वर्ष 2010 सर्वश्रेष्ठ अभिनेता ड्रामा सीरीज अप्सरा अवॉर्ड्स धारावाहिक उत्तरण

वर्ष 2010 सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता पॉपुलर इंडियन टेली अवॉर्ड्स धारावाहिक उत्तरण

वर्ष 2010 सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता इंडियन टेलिविजन अकैडमी अवॉर्ड्स धारावाहिक उत्तरण

वर्ष 2011 सर्वश्रेष्ठ एंसेंबल कास्ट अप्सरा अवॉर्ड्स धारावाहिक उत्तरण

वर्ष  2011  सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता पॉपुलर जी गोल्ड अवार्ड धारावाहिक उत्तरण

वर्ष 2014 सर्वश्रेष्ठ अभिनेता नेगेटिव रोल इंडियन टेलिविजन अकैडमी अवॉर्ड्स धारावाहिक एक हसीना थी

error: Content is protected !!